UP Bhulekh Naksha – भूलेख खसरा खतौनी नक्शा देखे 2021

योजी जी के नेतृत्व वाले उत्तर प्रदेश के सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के जन के लिये अनेक योजनाये शुरू करणे कि पहल कि जा रही है । ऐसी योजनये बनाने में उत्तर प्रदेश सरकार बाकी राज्यो से आगे है ।

एक ऐसी हि नयी योजनायूपी सरकार लेकर आई है, जिसका नाम है‘भुलेख ऑनलाइन’ । UP Bhulekh Naksha ‘भुलेख ऑनलाइन’2021 खसरा खतौनी कॉपी upbhulekh.gov.in पर

यूपी भुलेख ऑनलाइन सेवाएं भु नक्ष नक्शा खसरा गट्टा नंबर भूमि रिकॉर्ड डाउनलोड की जांच करें। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने राज्य में भूलेख पोर्टल लॉन्च किया है। यहां भूलेख का अर्थ है भूमि से संबंधित सभी खाते, यूपी सरकार ने भूमि रिकॉर्ड जानने के लिए 2 मई 2016 को कंप्यूटर पर इसकी व्यवस्था की थी।

लेकिन अब योगी जी ने यूपी भूलेख पोर्टल लॉन्च किया है। पहले जमीन से जुड़े तमाम ब्योरे कागजों में लिखे मिलते थे। इन सभी विवरणों को अब ऑनलाइन उपलब्ध करा दिया गया है।

UP Bhulekh Naksha यूपी भूलेख पोर्टल क्या है? यूपी भूलेख का अर्थ है उत्तर प्रदेश की भूमि का लिखित विवरण। इस विवरण के लिए, यूपी सरकार ने भुलेख नामक एक वेबसाइट शुरू की है।

गवर्नर इसमें लोगों की पूरी जमीन का ब्योरा ऑनलाइन मिलता है। राज्य के नागरिकों को अब अपनी जमीन की पूरी जानकारी घर बैठे बड़ी आसानी से जानने की सुविधा मिल गई है. कोई भी व्यक्ति अपनी जमीन से जुड़ी जानकारी घर बैठे ही जान सकता है।

UP Bhulekh Naksha खसरा खतौनी चेक करे।

खसरा खतौनी दोनों शब्द उर्दू भाषा के हैं। किसी चिन्हित भूमि के टुकड़े की संख्या या किसी खेत की संख्या को खसरा कहते हैं। UP Bhulekh Naksha भूलेख को फार्म दस्तावेज, फार्म खाता या विवरण, नक्शा, कॉपी आदि भी कहा जाता है। भूमि से संबंधित सभी कार्य राजस्व विभाग के अधिकार क्षेत्र में आते हैं।

यहां रोजाना जमीन से जुड़ी सैकड़ों गतिविधियां होती हैं। इन सभी को कम्प्यूटरीकृत करने के लिए यह पोर्टल शुरू किया गया है। इस सुविधा से पूरे काम को सुव्यवस्थित और सुचारू किया जा सकता है।

उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल की सुविधा से राज्य के नागरिक अपनी जमीन से संबंधित सभी जानकारी घर बैठे ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

इस लेख में हमने पाठकों को पूरी प्रक्रिया से अवगत कराया है ताकि उन्हें अपनी जमीन से जुड़ी सारी जानकारी आसानी से मिल सके। इस प्रक्रिया से राजस्व विभाग के सभी कार्यों में पारदर्शिता आती है। इसके शुरू होने से पहले उत्तर प्रदेश UP Bhulekh Naksha भूलेख का पूरा रिकॉर्ड कागजों में था।

UP Bhulekh Naksha - भूलेख खसरा खतौनी नक्शा देखे

इसे मई 2016 से कंप्यूटर पर लाया गया था। जिसके बाद व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है और अब योगी सरकार द्वारा शुरू किए गए भूलेख पोर्टल के कारण लोगों को अपनी जमीन से संबंधित कोई भी जानकारी घर बैठे ही मिल जाती है।

अब उन्हें हर छोटे-छोटे काम के लिए पटवारी नहीं जाना पड़ता, इससे उनका समय और पैसा दोनों बचता है। भूमि से संबंधित सभी विवरण, इस पोर्टल सुविधा से कोई भी जान सकता है कि उसके पास कहां और कितनी जमीन है

यह जानकारी हासिल कर वह अपनी जमीन का मालिकाना हक भी दिखा सकता है। ऐसे में उसके साथ कोई धोखाधड़ी नहीं हो सकती है क्योंकि जमीन से जुड़ी सभी जानकारियां सही होती हैं।

UP Bhulekh Naksha ऑनलाइन का उद्देश्य

यूपी भूलेख ऑनलाइन का मुख्य उद्देश्य भूमि से संबंधित सभी कार्यों को सरल, सुचारू और सुव्यवस्थित बनाना है। राज्य के नागरिकों को घर बैठे जमीन से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध करानी होगी. लोगों को अब हर जानकारी लेने के लिए पटवारी या तहसीलदार के पास नहीं जाना पड़ेगा।

इस योजना के मुक्या बिंदू नीचे दिया गये प्रकार है

  • नाम पोर्टल का नाम
  • यूपी भूलेख ऑनलाइन 2021 खसरा खतौनी कॉपी
  • उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा इसकी शुरुआत किसने की?
  • उद्देश्य- भूमि से संबंधित सभी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध कराना।
  • आधिकारिक वेबसाइट – http://upbhulekh.gov.in/
  • कंप्यूटर पर भू-भूलेख सुविधा- 2 मई 2016 से।
  • लाभार्थी – उत्तर प्रदेश के सभी नागरिक

सामान्य जानकी

 PortalBhulekh UP Portal
Check onlineLand Records UP online
DepartmentRevenue Department
MapUP Bhu Naksha Online
Official Portalupbhulekh.gov.in
SearchUP Bhulekh Khasra Number online
UnderState Government of Uttar Pradesh

UP Bhulekh Naksha इस पोर्टल के लाभ

इस पोर्टल की सुविधा से लोग अपनी जमीन का नक्शा घर बैठे देख सकते हैं इसके लिए उन्हें खसरा नंबर और जमाबंदी नंबर पता होना चाहिए जिसे वे जमीन का नक्शा निर्धारित स्थान पर दर्ज कर आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। राज्य के लोग घर बैठे ही अपनी जमीन का पूरा ब्योरा आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

भूलेख पोर्टल की ऑनलाइन सुविधा से राज्य के लोगों का समय और पैसा दोनों बचेगा, क्योंकि इस सुविधा के शुरू होने से पहले लोगों को जमीन से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी लेने के लिए पटवारी जाना पड़ता था. यह तब और भी मुश्किल हो जाता है जब इच्छुक व्यक्ति अस्वस्थ होता है इसलिए सरकार द्वारा राज्य के नागरिकों को यह बड़ी सुविधा दी गई है। यूपी भु नक्ष कैसे देखे

इस पोर्टल सुविधा से ज़मीनी कार्यप्रणाली में पारदर्शिता आएगी और जमीन से सम्बंधित कोई धोखाधड़ी नहीं होगी।

उत्तर प्रदेश भुलेख कैसे देखें?

उत्तर प्रदेश के भू-मानचित्र को ऑनलाइन कैसे देखेंआवेदक को सबसे पहले यूपी जियो मैप की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। यूपी भूमि रिकॉर्ड जिलेवारइस पेज पर पूछी गई सभी जानकारी आवेदक के नाम, पता, गांव, तहसील और जिले आदि जैसे व्यक्ति द्वारा सही-सही भरी जानी है। इसके बाद चयनित क्षेत्र का नक्शा तैयार किया जाएगा।

अगर आप खाताधारक के बारे में जानना चाहते हैं तो अपने फॉर्म नंबर पर क्लिक करें।

पर जब आप ऐसा करेंगे तो आपको मोबाइल स्क्रीन पर लहंगा नंबर दिखाई देगा.अब नीचे दिए गए कॉलम में आप जिस खाताधारक को देखना चाहते हैं उसका नाम दर्ज करें.

अगर कोई व्यक्ति अपने जमीन के नक्शे का प्रिंटआउट लेना चाहता है तो वह ऐसा कर सकता है।

यूपी भूलेख के विभिन्न वर्ग

खसरा संख्या-

खेत, प्लाट या भूमि का कोई भी चिन्हित टुकड़ा जिसका अंक सर्वेक्षण में पाया गया हो, खसरा संख्या कहलाता है। यह संख्या सरकार द्वारा खेती योग्य भूमि के लिए दी जाती है।

खाता या खेवट नम्बर

जिन भूस्वामियों के पास अलग-अलग खसरा संख्या वाली भूमि का एक टुकड़ा होता है, उन्हें उस भूमि का लेखा या खेवत नंबर दिया जाता है।

जमाबंदी या फर्द-जमाबंदी या फर्द में मुख्य भूमि अभिलेख जैसे भूमि के मालिक का नाम, भूमि बोने वाले व्यक्ति का नाम, क्षेत्र, भूमि खसरा संख्या, फसल विवरण और पट्टा विवरण आदि शामिल हैं।

खतौनी संख्या-

खतौनी संख्या वह संख्या है जो काश्तकारों को उनकी भूमि के उस भाग को दी जाती है जो विभिन्न खसरा संख्या वाली भूमि पर खेती करता है।

यूपी भूलेख खसरा खतौनी नकल देखने की प्रक्रिया

जो लोग इस पोर्टल के माध्यम से अपनी जमीन से संबंधित किसी भी चीज की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, वह नीचे दी गई प्रक्रिया के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं-

सबसे पहले इच्छुक व्यक्ति को भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। ऐसा करने से आपके लिए ऑनलाइन सुविधाएं क्रम में आ जाएंगी। • अगर किसी को खसरा खतौनी की कॉपी के बारे में जानना है तो उसे कॉपी खसरा के विकल्प पर क्लिक करना होगा.जैसे ही वह इस पर क्लिक करेगा आपकी स्क्रीन पर अगला पेज खुल जाएगा.

इस पेज पर व्यक्ति को निर्दिष्ट स्थान पर कैप्चा कोड भरना होगा। आपको बस इतना करना है कि कैप्चा कोड दर्ज करें और सबमिट विकल्प पर क्लिक करें।

इसके बाद आपके मोबाइल स्क्रीन पर एक और नया पेज दिखाई देगा इस पेज पर व्यक्ति को अपना नाम, पता, गांव, जिला, तहसील खसरा या खतौनी नंबर या लीज की जानकारी या सर्वे नंबर आदि भरना होगा. आपको यह सारी जानकारी सही तरीके से और सही जगह पर भरनी है।

इस प्रकार पूरी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है ऐसा करने से आपको अपनी स्क्रीन पर गलती की सारी जानकारी मिल जाएगी।

उत्तर प्रदेश भू-लेख पोर्टल पर लॉगिन कैसे करें?

इच्छुक व्यक्ति को सबसे पहले उत्तर प्रदेश राजस्व परिषद की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  • इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको स्क्रीन पर लॉगिन करने का विकल्प दिखाई देगा। आपको वहां क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक और नया पेज खुलेगा जिसमें नीचे दिए गए कुछ विकल्प होंगे-
  • राजस्व प्रशासक बोर्ड लॉगिन
  • राजस्व रिपोर्ट बोर्ड लॉगिन
  • तहसील उत्परिवर्तन लॉगिन
  • जिला प्रशासनिक लॉगिन
  • तहसील एडमनिस्ट्रेटिव लॉगिन
  • तहसील रिपोर्ट लॉगिन
  • ऊपर दिए गए विकल्प में आप जिस विकल्प से जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं उस पर क्लिक करें।
  • फिर आप निर्दिष्ट कॉलम में उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड और कैप्चा कोड दर्ज करेंगे।
  • अब व्यक्ति को लॉगिन विकल्प पर क्लिक करना है

इससे पोर्टल पर आपकी लॉगिन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

भूनक्शा डाउनलोड कैसे करें?

सबसे पहले उत्तर प्रदेश जियो मैप की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।ऐसा करते ही आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।व्यक्ति को इस पेज पर दिए गए कॉलम में अपने जिले का नाम भरना है। इसी तरह आपको अपने गांव और तहसील को निर्धारित स्थान पर भरना होगा। यूपी भूलेख खसरा नंबर

आगे आपको अपने प्लॉट या फार्म के खसरा नंबर पर क्लिक करना है।ही जैसे ही आप खसरा नंबर पर क्लिक करेंगे, आपके सामने आपकी स्क्रीन पर जियो मैप आ जाएगा।

व्यक्ति चाहे तो मानचित्र को डाउनलोड भी कर सकता है और उसका प्रिंटआउट भी प्राप्त कर सकता है।

ऐसे राजस्व ग्राम खतौनी का कोड, सबसे पहले व्यक्ति को उत्तर प्रदेश राजस्व परिषद की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

ऐसा करते ही आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।

व्यक्ति को इस होम पेज पर “राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जानिए” के विकल्प पर क्लिक करना है।

अब व्यक्ति को अपने गांव, जिले और तहसील का पंजीकरण कराना होगा।

ही जैसे ही आप अपने खुद के गांव, जिले और तहसील का चयन करते हैं, आपकी स्क्रीन पर राजस्व ग्राम खतौनी का कोड उपलब्ध होगा।

Leave a Comment