MPNRC.ORG – क्या है? कैसे 2021 मैं MPNRC ने लाखों कमाए

Aaj mai aap ko MPNRC.ORG kya hai bataunga pure website ka review karunga. App bas dhyan se padhna aur dekhna kaise MPNRC.ORG ne 3 mahine mai kamaye karodo rupaye.

तो आ गए आप चलो फिर देखते है आखिर कैसे बना MPNRC.ORG एक ब्रांड? और इसका ओनर कितने पैसे छाप रहा होगा?

MPNRC.ORG पहले एक नर्सिंग वेबसाईट हुआ करती थी जो मध्यप्रदेश राज्य सरकार की वेबसाईट थी। फिर इस वेबसाईट का MPNRC.ORG डोमेन इक्स्पाइर हो जाता है और इसे खरीद लेते है कोई ब्लॉगर जो की लगबघ 10 साल से ब्लॉगिंग कर रहे थे। पता नहीं इनको कहा से ये idea आया? की expire domain पे काम करके लाखों करोड़ों कमा सकते है।

2021 मैं जहा हमारे जैसे ब्लॉगर शांति से रूल को फॉलो करते हुए ब्लॉगिंग कर रहे थे। कुछ बिचारे affiliate marketing कर रहे थे। बाकी बचे यूट्यूब पे अपना कोर्स बेच रहे थे वहा पे ये महाशय आए और धमाका कर दिए।

What is MPNRC.ORG? – कैसे बना ब्रांड?

आभी के टाइम पे MPNRC.ORG ये एक प्राइवेट न्यूज ब्लॉग है जिस पे आज के टाइम मैं 1200 ब्लॉग पोस्ट के साथ करीब महीने का 1.1 करोड़ ट्राफिक होगा और इसकी दिन की कमाई करीब 8 लाख रुपये होगी। ये किसी अकेले का नहीं बल्कि टीम वर्क है जो इसकी सफलता इतने जल्दी इसे ब्रांड बना दिए।

What is MPNRC.ORG - क्या है कैसे बना ब्रांड कमा रहा है दिन के लाखों

पूरी कहानी:- मार्च या एप्रिल की बात होगी जब इस ब्लॉग की शुरुवात हुई – शुरुवात मैं ही domain age और backlink की वजह से जो भी पोस्ट लिखे गए वो गूगल मैं रैंक होने लगे।

तभी अपने ब्लॉगिंग का पूरा तजुर्बा और बोहोत सारे रिस्क के साथ एमपीएनआरसी ओनर ने ब्लॉग पोस्ट के साथ साथ ज्यादा पावर के backlink बनाने शुरू करे। तब जाके थोड़ा थोड़ा कर के ये वेबसाईट हर एक पोस्ट के लिए गूगल मैं टॉप 10 मैं दिखाई देने लगा।

जुलाई की बात होगी जब वेबसाईट का ट्राफिक काम क्यू हो रहा है ये देखने कुछ दूसरे ब्लॉगर/youtuber ने रिसर्च करी। तब उन्हे ये पता चला की उनके साथ साथ MPNRC.ORG न्यूज वेबसाईट जो की सालों से ट्राफिक ले जा रही थी उनका भी ट्राफिक इसने छिन लिया।

MPNRC.ORG - वेबसाईट का नेट वर्थ कितना होगा
MPNRC.ORG – वेबसाईट का नेट वर्थ कितना होगा

फिर क्या था Youtube पे वीडियोज़ पे विडिओ आने लागि MPNRC.ORG ये MPNRC.ORG वो कुछ लोग मीम बनाने लगे। याने जो ब्लॉग चुप छाप महीने के लाखों छाप लेता इस ब्रांडिंग की वजह से वो दिन के लाखों छापने लगा।

MPNRC.ORG - वेबसाईट के कमाई का अगर अंदाज लगाया जाए
MPNRC.ORG – वेबसाईट के कमाई का अगर अंदाज लगाया जाए

यह बस एक अंदाजा है की MPNRC कितना कमा रहा है। आप ने उनका इंटरव्यू देखना है तो आप नीचे दिए गया विडिओ देख सकते है। कृपया ध्यान दे की ये विडिओ ब्लॉगगर्स लोगों के लिए है। बाकी लोगों को इस विडिओ की बाते या तो समझ नहीं आएगी या आप इसे मानने से इनकार कर देंगे।

MPNRC ब्लॉग का nich क्या है?

ये ब्लॉग जनरल न्यूज nich मैं काम कर रहा है। जहा पे बाकी न्यूज वेबसाईट काम करती है। हालाकी जितना इसके पोस्ट का ट्राफिक है उससे कई ज्यादा ट्राफिक इसपे आया है उसका एक सीधा जवाब है ब्रांडिंग। ब्रांडिंग ऐसे की ब्लॉगिंग सब कर रहे थे सब गूगल के रुल्स फूलो कर रहे थे (झुट है शायद सब)। पर इस वेबसाईट के ओनर ने रिस्क लेते हुए कुछ नया करके देखा और वो सफल भी रहा।

क्या आप MPNRC जैसे वेबसाईट बना सकते है?

हा MPNRC जैसे और भी वेबसाईट बन चुके है जो की expired government डोमेन है और ठीक MPNRC जहा रैंक होता है उसकी नीचे बाकी रैंक होते है। इसि वजह से जो बाकी ब्लॉगर थे गूगल के पहले पेज से दूसरे पे चले गए और सारा ट्राफिक इन लोगों ने लेली।

मेरे ब्लॉग्स की बात करू तो मेरा ट्राफिक करीब ५०% घट कर मेरे कमाई मैं भी ३०% की कमी हुई है। बाकी जो ब्लॉगर नए थे उनको तो भगवान ही बचाए।

ऐसे शुरू कर सकते है आप MPNRC जैसा ब्लॉग:

  • expireddomains.net के वेबसाईट पे जाओ
  • वहा से कोई भी अच्छा सा डोमेन ले लो
  • फिर टीम बनाके दिन के १० अछे पोस्ट लिखते रहो
  • १ महीने बाद अगर ट्राफिक नहीं आ रहा तो छोड़ दो फिर आप के बस की बात नहीं है
  • अगर ट्राफिक आता है तो काम करते रहो और सीखते रहो

क्या MPNRC को गूगल पेनल्टी देगा?

अभी MPNRC ब्लॉग को लगभग ६ महीने हो चुके है और उनके पास करीब १ करोड़ से ज्यादा subscriber और अपना १० साल का experience और ढेर सारा पैसा है। तो गूगल ने पेनल्टी भी लगा दी तो उनको ज्यादा फरक नहीं पड़ेगा।

और मुझे लगता है गूगल पेनल्टी नहीं देगा उसके कुछ कारण है:

  • यह वेबसाईट एकदम गूगल के रुल्स फॉलो करती है
  • रही backlink की बात तो गूगल ने backlink से पेनल्टी देना बंद ही कर दिया है लगभग
  • ना ये ब्लॉग कोई फेक दावे करता है
  • ना ही इस ब्लॉग पर कोई ऐसे जानकारी है जो किसी के लिए हानिकारक है
  • वेबसाईट के नाम की इतनी ब्रांडिंग हो चुकी है की MPNRC को सर्च करने वाले भी लाखों होंगे।

अब गूगल तो अपना चाचा है नहीं जैसे वो बड़ी बड़ी न्यूज वेबसाईट को रैंक डेटा है वेसे ही MPNRC को भी देगा बस। गूगल को ब्लॉगर से ज्यादा ब्लॉग पढ़ने वालों की चिंता है तो जब तक पढ़ने वाले नाराज नहीं होंगे तब तक गूगल भी खुश रहेगा।

Conslusion:

इस article को लिखने का बस एक ही उद्देश था के लोगों को थोड़ी जानकारी मिले की पैसा कमाने का सिर्फ एक ही रास्ता नहीं होता और जो ब्लॉगर है उनके लिए ये की रूल्स के हिसाब से खेलोगे तो करोड़ों मई गुम हो जाओगे। कुछ हटके अपने रिस्क पे करोगे तो शायद कभी चमक जाओगे।

पढ़ने वाले ध्यान दे की ये बस एक कहानी के तौर पर लिखा गया आर्टिकल है मेरा कोई ज्ञान या hate फैलाने का इरादा नहीं है तो मजे से पढे और कुछ सीखे हो तो कमेन्ट करे।

Leave a Comment