Meri Fasal Mera Byora Register and Payment 2021 – मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना

Meri Fasal Mera Byora मेरी फसल मेरा ब्यौरा यह योजना हरियाना सरकार द्वारा हरियाना के किसानो के लिये निर्माण कि गई है। अगर आप भारत देश के हरियाना राज्य के निवासी ही, तथा आप हरियाना मी किसान ही, तो आप याह जानकारी अवश्य पढे । यदी आप खेती से जुडी कोई भी क्रियाकलाप करते हो तो भी ये जानकारी आपके लिये खास है।

Meri Fasal Mera Byora योजना का परिचय

मेरी फसल मेरा ब्यौरा यह योजना हरियाना सरकार द्वारा हरियाना के किसानो के लिये निर्माण कि गई है ।इस योजना के मध्यम से हरियाना सरकार किसान भाइयों को आपनी खेती से जुडे सरकारी कामकाज में सहायता कर राही है। इस योजना के मध्यम से किसान अपने काम खुद घर बैठ कर कर सकते है ।

किसानो को सरकारी कामकाज आसन तरीकेसे करणे कि दिशा में सरकार कार्य करते हुए इस योजना को किसानोके तथा अन्य सामान्य जनता के समक्ष लायी है।

इस योजना के द्वारा सरकार यह पता लगा पायेगी, की हरियाना राज्य में कितनी फसल कि पैदावारहुई है। अथवा प्राकृतिक आपदाओं या दुर्घटनाओं की वजह से कितनी फसल ख़राब तथा कितनी बची हुई है।

हरियाना के मुख्य मंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा इस Meri Fasal Mera Byora योजना, का आरम्भ हरियाणा के किसानो के हित को ध्यान में रखते हुए किया गया है। मेरी फसल मेरा ब्यौरा इस योजना के पंजीकरण (रजिस्ट्रेशन)२०२१के लिए अगर आप भी इच्छुक हैं, तो आप आवेदन पत्र ऑनलाइन भर सकते है।

योजना अंतर्गत     हरिया राज्य सरकार
योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर, हरियाणा
विभाग कृषि विभाग
योजना का लाभ किसानो को सहायता प्रदान करना।
लाभार्थी        हरियाणा के किसान
राज्य राज्य
अधिकृत वेबसाईट www.fasal.haryana.gov.in

इस पुरी जानकारी के बाद किसानो को राहत देने के लिए कदम उठाये जा सकेंगे। इससे सरकार को किसानो कि सहाय्यता करणे में आसनी होगी।ऐसे में सरकार उनकी मदद के लिए जल्द से जल्द कदम उठ सकेगी। बहुत से किसान फसल बर्बाद होने पर कर्जा लेते है, और उसके तले दब जाते हैं। ऐसे में अगर सरकार उनकी सहायता आर्थिक या फिर अन्य स्वरूप में करे तो उनके लिए यह बहुत हे अच्छा रहेगा।

आप अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर से ही अपना आवेदन घर बैठकर या फिर जहा है वाहा से भर सकतें है। कोरोना वायरस जैसी बीमारी के चालते इस समय को ध्यान में रखते हुए,इसतरह कि योजना कारागार सावित हो सक्ती है ।

Meri Fasal Mera Byora/मेरी फसल, मेरा ब्योरा इस योजना को ऑनलाइन आवेदन करणे कि प्रक्रिया सरल प्रक्रिया है। इसमें आपको कहीं भी, किसी भी सरकारी कार्यालय जाने की जरूरत नहीं।

Meri Fasal Mera Byora Register मेरी फसल मेरा ब्यौरा आवेदन करे

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना का उद्देश

  • किसान का पंजीकरण, फसल का पंजीकरण, खेत का ब्यौरा और फसल का ब्यौरा |
  • किसानों के लिए सारी सरकारी सुविधाओं एक ही जगह पर उपलब्ध कारण तथा समस्या निवारण के लिए भी ये योजना बनायी गायी है |
  • कृषि और खेती से संबंधित जानकारियाँ समय पर उपलब्ध करना |
  • कृषि से जुडी अनेक उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध करवाना |
  • फसल की बिजाई-कटाई का समय व मंडी में होनेवले फसल केभावो में होनेवले वाले बदलाव से संबंधित जानकारी उपलब्ध करना |
  • प्राकृतिक आपदा-विपदा यानी घमासान बारीश, फसल का जल जाना, सुकजाना, किताको कि वजह से खडी फसल का बुरा हाल होना इत्यादी समय के दौरान सही समय पर सहायता दिलाना |

Meri Fasal Mera Byora Register मेरी फसल मेरा ब्यौरा आवेदन करे:

अगर आप Meri Fasal Mera Byora योजना का लाभ लेना चाहते है, औरआपको यह पट नही है कि इस योजना के लिये आवेदन कैसे करे, तो हम आपको बताते है कि आप इस योजना के लिये आवेदन कैसे कर सकते है।

नीचे दी गयी प्रक्रिया को ध्यान पूर्वक पढ़ें व उस अनुसार आप अपना पंजीकरण करके आगे कि प्रक्रया को पुरा कर सकते है । प्रक्रिया के दिशा निर्देश नीचे दि गई है :

  • सबसे पहले https://fasal.haryana.gov.in/ इस वेबसाईट पर जाये। इस वेबसाईट पर जाने के बाद अवेदक मेरी फसल मेरा ब्यौरा की आधिकारिक वेबसाइट पर पाहुचेगा ।
  • जाब आप मेरी फसल, मेरा ब्योरा कि आधिकारिक वेबसाईट पर आयेंगे तब आपके सामने पोर्टल का मुख्य पेज खुल जायेगा ।
  • यहाँ पर आपके सीधे हाथ यानीदाहीने हाथ कि और से नीचे दिए गए ‘किसान अनुभाग’ पर एक बर क्लिक करे।
  • अबआपके सामने एक नया पृष्ठ खुलेगा। जो कि नीचे दिये गये प्रकार से होंगे।
    • किसान पंजीकरण
    • पाजीकरण प्रिंट
    • बँक विवरण बदलणे का पर्याय
    • उपर दिये गये सारे पर्याय हरियाना के किसानो के लिये है ।
      • पडोसी राज्य के किसानो का विवरण
      • पडोसी राज्यो के किसान का पंजीकरण
      • पंजीकरण कि प्रिंट
      • बँक विवरण बदलणा
    • ये चार पर्याय पडोसी राज्यो के किसानो के लिये है ।
      • पंजीकरण
      • पंजीकरण कि प्रिंट
      • बँक विवरण बदलणे का पर्याय
    • उपरोक्तचारपर्याय हरियाना के पडोसी राज्यो के किसानो के लिये है, जिनकी खेती कि जमीन हरियाना में है ।
  • इस पृष्ठ पर आपको उपरोक्त सारे पर्याय मिल जायेंगे । आप जिस क्षेत्र से पंजीकरण करवाना चाहते है, उस हिसाब से ‘किसानपंजीकरण’ पर्याय पर क्लिक करे ।हमेयहा पर सिर्फ हरियाना के लिये पंजीकरण कारण है तो हम हरियाना वाली ‘किसान पंजीकरण  (हरियाना)’ पर क्लिक करे। बाकी के पंजीकरण के लिये भी यही प्रक्रिया है।
  • अब आपके सामने नाय पृष्ठ खुलेगा, जो कि किसान लोग इन फोरम (हरियाना)इस नाम से होगा । यहां आप अपना मोबाइल नंबर भरें और कॅप्चा कोड को डाले और  लॉगिन करें पर क्लिक करें।
  • अबआपके मोबाइल नंबर पर OTP(One Time Password)नंबर आएगा। उसे सही जगह पर भरकर OTP सत्यापित करें पर क्लिक करें।
  • अब यहा पर आपसे पूछा जायेगा परिवार पहचान पत्र के बारे में। हां का विकल्प चुने। और आगे कि जानकारी को भरे ।पूछी गई सभी जानकारियों को ध्यान से भरें। आपको आपका आवेदन पत्र मिलेगा।
  • अब अपनी सभी जानकारी भाते समय  मांगे गए दस्तावेज को अपलोड करें। अबआप सबसे आखिरमें सबमिट बटन पर क्लिक कर अपना आवेदन पत्र जमा करवा दें। यहा पर आपकी आवेदन कि प्रक्रिया पूरी हो गयी है ।
  • आपको आवेदन करने परएक संख्या प्राप्त होगी, जिसे पंजीकरण संख्या कहते है । कृपया इस संख्या कोसंभाल के रखे। यह संख्या आपको भविष्य में आवेदन की स्थिति पता करने हेतु सहाय्यक होगी।
  • इस प्रकार आप अपना पंजीकरण मेरी फसल, मेरा ब्योरा इस योजना के लिये कर सकते है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना : पात्रताये

  • Meri Fasal Mera Byora योजना का लाभ लेने के लिये आपके पास आधार कार्ड होना आवश्यक है।
  • भारत के क्षेत्र में चलने वाला कोई भी मोबाइल नंबर भी पंजीकरणके लिए जरुरी है। इस मोबाईल नंबर से मेरी फसल मेरा ब्योरा विभाग आपको कोई भी सुचना देना चाहता है, तो आपको आपके पंजीकृतमोबाइल नंबर पर मैसेज द्वारा वह जानकारी भेज दी जाएगी।किसान को जमीन से जुडी सभी जानकारी तथा फसल से जुडी जानकारी, हवामान का अंदाज यहाँ उपलब्ध उपलब्ध होगा।
  • यदी कोई संकट आता है, तोसरकार कोई आर्थिकसहायता कि घोषणा करती है, तब वहराशि भेजना चाहे तो उसके लिए अवेदक का बैंक खाता भी रजिस्ट्रेशन के दौरान आवेदन में देना जरुरी है। कम शब्दो में कहना चाहे तो आपके पास अपना खुद का बँक का खाता होना आवश्यक है ।
  • यह योजना सिर्फ किसानो के लिये है तो इस बात का खास ध्यान राखे कि आवेदन कर्ता केवल किसान ही हो सकता है।
  • किसान को हरियाणा प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है। उसके साथ अगर किसी और राज्य के निवासी होंगे, और उनकी जमीन हरियाना में होगी, तो उनके लिये भी अन्य मार्ग उपलब्ध कराये गये है ।

मेरी फसल, मेरा ब्योरा : दस्तावेज अथवा कागजात

  • आधार कार्ड।
  • जमीन से जुड़े कागजात।
  • निवास प्रमाण पत्र।
  • बैंक खाते की जानकारी।
  • मोबाइल नंबर।
  • हरियानाकास्थायीस्थानीय निवासी प्रमाण पत्र।

Meri Fasal Mera Byora आवेदन फॉर्म प्रिंट करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है।इसके लिये आपसबसे पहलेअपने कॉम्पुटर या अपने मोबाईल में ब्राउजर खोले।
  • उसके बाद सर्च बार में https://fasal.haryana.gov.in/ डाले।इस वेबसाईट पर जाने के बाद अवेदक मेरी फसल मेरा ब्यौरा की आधिकारिक वेबसाइट पर पाहुचेगा ।
  • इस होम पेज पर आपको पंजीकरण करें का पर्याय आपको दिखाई देगा।
  • आपको इस पर्यायपर क्लिक करना है, क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खूलकर आएगा।इस पेज पर आपको प्रिंट फॉर्म का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • ‘आवेदन फॉर्म प्रिंट करने की प्रक्रिया’को इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपको यहां पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करनी है जैसे कि मोबाइल नंबर, आपका नाम, बैंक खाता संख्या आदी ।
  • सभी जानकारी देणे के बाद आपको प्रिंट के बटन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन खुलकर  आ जाएगा इस तरह से आप अपना फॉर्म प्रिंट कर सकते हैं

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना कि मुख्य बाते

  • हरियानासरकार कि मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना में पंजीकरण करणे वाले सारेकिसानो को कई प्रकार के लाभ, सरकारी लाभ तथा सरकार कि अन्य योजनाओ के बरे में जानकारी प्राप्त होंगी।
  • उन्हें प्राकृतिक आपदा यानीज्यादा बारीश, खराब मोसम के चलते फसल खराब हो ज्याना, खडी फसल सुक जाना, कीटक कि वाजह से फसल कि बर्बादी आदी सेहोने वाली क्षति और दुर्घटना से बचाया जायेगा।
  • जीन किसानो कि फसल खराब हुई है, ऐसे किसानो सरकार आर्थिक रूप से भी मदद करेगी।
  • मेरी फसल, मेरा ब्योरा केआधिकारिक पोर्टल की सहायता से हरियाना के किसानो की सभी समस्या का हल कि जायेगी। सभी प्रकार की सरकारी योजनाये तथाजानकारी एक हि पोर्टल पर उपलब्ध करवाई जाएँगी।
  • कृषि से जुड़े खाद्य पदार्थ, उर्वरक तथा उपकरणों पर सब्सिडी भी प्राप्त होंगी।
  • किसान भाई खाद्य , बीज व ऋण से जुडी चीज़ो पर भी सब्सिडी ले सकेंगे।
  • इस योजना के माध्यम से किसानो को मोबिले एप तथा आधिकारिक पोर्टल पर उन्हें मंडी से संबधित जानकारी, फसल कि पैदावार, उनकी गुणवत्ता, बाजार भाव कि जानकारीभी दी जाएगी।
  • हरियाणा क्षेत्र में जो भी किसान Meri Fasal Mera Byora योजना के लिये आवेदन करेंगे और इस योजना के अंदर आएगे प्रदेश से जुडी, स्थानिक वातावरण के बरे में यहाँ पूर्ण जानकारी किसानो को प्रदान कि जाएगी।
  • साथ साथ ही साथ फसल की कटाई व बीज कब बोने है, कोनसा रसायन उनपर कारगर सावित होगा, कीटक के दुष्प्रभाव से बचाने के लिये कोनसा रसायन उपयुक्त साबित होगा, तथा कोनसी मिट्टी में कोनसी फसल ठीक तरीकेसे बढती है, याह सब से जुड़ी जानकारी भी ले पाएंगे।
  • VLE यानी Village Laver Enterprise इस कार्य के लिए नियुक्त किये गए है। सरकारी विभाग द्वारा उन्ही के खाते में जो लोग इस योजना के लिये पात्र होंगे उनके खाते में जरूरत के समय सहायता भेज दी जाएगी।

Meri Fasal Mera Byora हेल्प लाईन संपर्क:

Meri Fasal Mera Byora योजना के संबंध में अगर किसानो को कोई समस्या आती है, तो ऐसे में किसानो के लिए सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किये गए है। जहाँ पर सम्पर्क कर आप सरकार के प्रतीनिधियो से बातचीत करके अपने योजना सम्बंधित प्रश्नो की जानकारी ले सकतें हैं। उसी के साथ अपनी समस्या का समाधान कर सकते है।

  • मेरी फसल, मेरा ब्योरा योजना के लिये हेल्प लाईन संपर्क :
    • 1800- 180- 20601800- 180- 2117
  • उपरोक्त दोनो संपर्क क्रमांक मुफ्त है ।
  • आप Meri Fasal Mera Byora योजना से जुडे हुये सरकार या फिर सरकारी प्रतीनिधियो से ई-मेल कि सहाय्यता से भी संपर्क कर सकते है ।
  • इस ई-मेल पते से आप अपनी समस्या को सरकार तक पाहुचा कर समस्या का समाधान कर सकते है ।

Leave a Comment