6 Fundamental Rights of Indian Constitution – भारतीय संविधान

There are 6 Fundamental Rights of Indian Constitution. भारतीय संविधान के 6 मौलिक अधिकार है जो आज मै आप को बताने जा रहा हू॥

  1. Right to equality (Articles. 14-18)
  2. Right to Freedom (Articles. 19-22)
  3. Right Against Exploitation (Articles. 23-24)
  4. Right to Freedom of Religion (Articles. 25-28)
  5. Cultural and Educational Rights (Articles 29-30)
  6. Right to Constitutional Remedies (Articles 32-35)
  1. समानता का अधिकार (अनुच्छेद 14-18)
  2. स्वतंत्रता का अधिकार (अनुच्छेद 19-22)
  3. शोषण के खिलाफ अधिकार (अनुच्छेद  23-24)
  4. धर्म की स्वतंत्रता का अधिकार (अनुच्छेद 25-28)
  5. सांस्कृतिक और शैक्षिक अधिकार (अनुच्छेद 29-30)
  6. संवैधानिक उपचार का अधिकार (अनुच्छेद 32-35)

Download – भारत के संविणधान का PDF

The Indian Constitution is said to be the longest written Constitution ever for any republic country in this world. The document contains 465 Articles, 12 Schedules, and 22 Parts that make this Constitution the Law of the Indian Republic.

This document has a framework that describes the fundamental political code, structure, procedures, powers, and duties of government institutions and sets out fundamental rights, and the duties of Indian citizens.

It took 2 Years 11 Monts and 18 days for Dr. Babasaheb Ambedkar and the team to prepare the final draft of this Consitution.

After this, the Constitution of India was passed by the Assembly of India on 26 November 1949 and came into Act on 26 January 1950. That’s why 26 November is celebrated as the constitution day all over the country.

जिस भारतीय संविधान को बनाने मै बाबासाहेब आंबेडकर को कारीब 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे उसे बाद मै चलते भारतीय संविधान सभा मै 26 नवंबर 1950 मै देश को सोपा गया।

भारतीय संविधान को वर्तमान के समय मै 465 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 22 भागों में विभाजित है. जिस मै कुल 6 मौलिक अधिकारो का भी समावेश है.

Details of Fundamental Rights of Indian Constitution – भारतीय संविधान के मौलिक अधिकार का विभाजन

Details of Fundamental Rights of Indian Constitution – भारतीय संविधान के मौलिक अधिकार का विभाजन

Let’s see what’s inside the details of the Fundamental Rights of the Indian Constitution. चलीये भारतीय संविधान के मौलिक अधिकार का विभाजन करते हुये देखते है हर एक अधिकार का महत्व.

1. Right to Equality – समानता का अधिकार

  1. Article -14 Equality before law.
  2. Article -15 Prohibition of discrimination on grounds of religion, race, caste, sex or place of birth.
  3. Article -16 Equality of opportunity in matters of public employment.
  4. Article -17 Abolition of Untouchability.
  5. Article -18 Abolition of titles.
  1. अनुच्छेद -14 कानून से पहले समानता।
  2. अनुच्छेद -15 धर्म, जाति, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव का निषेध।
  3.  अनुच्छेद -16 सार्वजनिक रोजगार के मामलों में अवसर की समानता।
  4. अनुच्छेद -17 अस्पृश्यता का उन्मूलन।
  5. अनुच्छेद -18 उपाधियों का उन्मूलन।

2. Right to Freedom – स्वतंत्रता का अधिकार

  1. Article -19 Protection of certain rights regarding freedom of speech, etc.
  2. Article -20 Protection in respect of conviction for offenses.
  3. Article -21 Protection of life and personal liberty.
  4. Article -21A Right to education
  5. Article -22 Protection against arrest and detention in certain cases.
  1. अनुच्छेद -19 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता आदि के संबंध में कुछ अधिकारों का संरक्षण।
  2. अनुच्छेद -20 अपराधों के लिए सजा के संबंध में संरक्षण।
  3. अनुच्छेद -21 जीवन की सुरक्षा और व्यक्तिगत स्वतंत्रता।
  4. अनुच्छेद -21A शिक्षा का अधिकार
  5. अनुच्छेद -22 कुछ मामलों में गिरफ्तारी और नजरबंदी के खिलाफ संरक्षण।

3. Right against Exploitationशोषण के खिलाफ अधिकार

  1. Article -23 Prohibition of traffic in human beings and forced labor.
  2. Article -24 Prohibition of employment of children in factories, etc.
  1. अनुच्छेद -23 मानव में यातायात पर प्रतिबंध और मजबूर श्रम।
  2. अनुच्छेद -24 कारखानों, आदि में बच्चों के रोजगार पर प्रतिबंध

4. Right to Freedom of Religionधर्म की स्वतंत्रता का अधिकार

  1. Article -25 Freedom of conscience and free profession, practice and propagation of religion.
  2. Article -26 Freedom to manage religious affairs.
  3. Article -27 Freedom as to payment of taxes for promotion of any particular religion.
  4. Article -28 Freedom as to attendance at religious instruction or religious worship in certain educational institutions.
  1. अनुच्छेद -25 अंतरात्मा की स्वतंत्रता और मुक्त पेशा, अभ्यास, और धर्म का प्रचार।
  2. अनुच्छेद -26 धार्मिक मामलों का प्रबंधन करने की स्वतंत्रता।
  3. अनुच्छेद -27 किसी भी धर्म के प्रचार के लिए करों के भुगतान के रूप में स्वतंत्रता।
  4. अनुच्छेद -28 कुछ शिक्षण संस्थानों में धार्मिक शिक्षा या धार्मिक पूजा में उपस्थिति के रूप में स्वतंत्रता।

5. Cultural and Educational Rightsसांस्कृतिक और शैक्षिक अधिकार

  1. Article -29 Protection of interests of minorities.
  2. Article -30 Right of minorities to establish and administer educational institutions.
  3. Article -31 Right to property [Repealed]
  1. अनुच्छेद -29 अल्पसंख्यकों के हितों का संरक्षण।
  2. अनुच्छेद -30 शैक्षिक संस्थानों की स्थापना और प्रशासन के लिए अल्पसंख्यकों का अधिकार।
  3. अनुच्छेद -31 संपत्ति का अधिकार [निरस्त/रद्द ]

6. Right to Constitutional Remediesसंवैधानिक उपचार का अधिकार

  1. Article -32 Remedies for enforcement of rights conferred by this Part.
  2. Article -32A Constitutional validity of State laws not to be considered in proceedings under article 32 [Repealed]
  3. Article -33 Power of Parliament to modify the rights conferred by this Part in their application to Forces, etc.
  4. Article -34 Restriction on rights conferred by this Part while martial law is in force in any area.
  5. Article -35 Legislation to give effect to the provisions of this Part.
  1. अनुच्छेद -32 इस भाग द्वारा प्रदत्त अधिकारों के प्रवर्तन के उपाय।
  2. अनुच्छेद -32Aअनुच्छेद 32 के तहत कार्यवाही में राज्य कानूनों की संवैधानिक वैधता पर विचार नहीं किया जाएगा [निरस्त/रद्द ]
  3. अनुच्छेद -33 संसद की शक्ति इस भाग द्वारा प्रदत्त अधिकारों को संशोधित करने के लिए उनके आवेदन, आदि के लिए।
  4. अनुच्छेद -34 इस भाग द्वारा प्रदत्त अधिकारों पर प्रतिबंध जबकि किसी भी क्षेत्र में मार्शल लॉ लागू है।
  5. अनुच्छेद -35 इस भाग के प्रावधानों को प्रभावी करने के लिए विधान।

Conclusion:

Now you have read some details about all 6 Fundamental Rights under Indian Constitution let us know if you like this information. We have tried our best to give this information but if you think something is wrong or not complete please suggest in the comment box.

Leave a Comment